श्री गणेश की अदभुत कहानी – ब्रह्माकुमारीज़ की जुबानी

Spread the love

 

श्री गणेश की अदभुत कहानी ब्रह्माकुमारीज़ की जुबानी

(ब्रह्माकुमारीज़  द्वारा श्री गणेश के स्वरुप का आध्यात्मिक महत्व)

भोपाल 20 सितंबर 2018

 विश्व गुरु भारत के नाम से प्रसिद्ध भारत की संस्कृति दुनिया के लिए एक आकर्षण का केंद्र रही है वास्तव में इस संस्कृति की आध्यात्मिक पृष्ठभूमि के कारण ही इसे अध्यात्मिक गुरु अथवा विश्व गुरु का दर्जा दिया गया है , जिसने दुनिया की सोच को एक नई दिशा दी है |

 यहां के त्यौहार यहाँ की  संस्कृति की विशेषता हे   जिससे लोग बड़े धूमधाम से मनाते हैं इन त्योहारों के पीछे भी वास्तव में जीवन के गहरे सिद्धांत छिपे हैं, परंतु समय के साथ लोग इनके आध्यात्मिक रहस्य को भूल गए और वह मात्र परंपराएं बनकर रह गए , इसी संदर्भ में ब्रह्माकुमारीज़  ने एक विशेष प्रयास की शुरुआत की जिसके अंतर्गत इन त्योहारों के पीछे छिपे हुए आध्यात्मिक रहस्य को जन-जन तक पहुंचाने की पहल की  इसी कड़ी में हाल ही में मनाए गए गणेश उत्सव के अवसर पर ब्रह्माकुमारी बहनों ने अनेक स्थानों पर जाकर गणेश की प्रतिमा के सामने एकत्रित भाई बहनों को श्री गणेश का प्रेरणादाई आध्यात्मिक रहस्य बताया |

श्री गणेश  के विचित्र चित्र की अदभुत कहानी सुनाई , विशेष गुण और शक्ति का प्रतीक हर अंग और अलंकर  के बारे में बताया , श्री गणेश ने भी यह गुण और शक्तियां परमात्मा से प्राप्त की और विघ्न विनाशक कहलाए ,  बहनों ने आगे बताया कि कैसे हम भी परमात्मा से संबंध बनाकर उन गुणों और शक्तियों को अपने अंदर धारण कर सकते हैं और अपने जीवन के विघनों के  ऊपर विजय पा सकते हैं और अपने जीवन  पर विजय पा सकते हैं |

परमात्मा से कैसे हम इन गुणों और शक्तियों को अपने अंदर धारण करें उसके लिए ब्रह्माकुमारी बहनों ने ब्रह्माकुमारी सेवा केंद्र पर चल रहे सात दिवसीय राजयोग ध्यान के कोर्स के लिए सभी को प्रेरित करते हुए आमंत्रित किया, यह कोर्स निशुल्क कराया जाता है |