नीलबड़ भोपाल 12 मई 2019 , उमंग समर कैंप का समापन

नीलबड़ भोपाल 12 मई 2019

5 मई से 12 मई तक चले उमंग समर कैंप का आज समापन हो गया ।

समापन के दौरान बच्चों के द्वारा  भिन्न-भिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए एवं नैतिक मूल्यों पर आधारित लघु नाटिका का मंचन भी किया गया ।

समर कैंप का बच्चों ने पूरा लाभ लिया । नैतिक शिक्षाओं के साथ- साथ , क्रिएटिव वर्क भी सिखाया गया ।

समापन सत्र के अवसर पर विशेष रूप से माउंट आबू से पधारे वरिष्ठ भ्राता बीके अशोक गावा जी भी उपस्थित थे , जिन्होंने बच्चों को सुंदर भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी । आदरणीय नीता दीदी जी  (संचालिका सुख शांति भवन )के निर्देशन मे चल रहे  उमंग समर कैंप के अंत मे बच्चों को ईश्वरीय उपहार एवं प्रसाद का भी वितरण किया गया ।

सुख शांति भवन में -मधुर मधुमेह शिविर

 

भोपाल नील बड 11 मार्च 19 ; निरंतर हो रहे कार्यक्रमों  की श्रंखला में नील बड स्थिति “सुख शांति ” भवन में मधुमेह के मरीजों के लिए 7-10 मार्च 19, तीन दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया जिसमे माउंट अबू से पधारे डॉ नायर ने भोजन पद्धति में बदलाव एवं राजयोग ध्यान के द्वारा शुगर पर नियंत्रण करने की विधि पर विस्तार से चर्चा की तथा शिविर के दौरान इस विधि से  सह्भागियौं की शुगर नियंत्रण कर के भी दिखाया तथा उन्होंने आश्वाशन भी दिया की अपनी जीवन शैली में राजयोग ध्यान को शामिल करने से एवं जरुरी भोजन के बदलाव से शुगर को असानी से नियंत्रित कर सकते हें तथा दवाइयों से छुटकारा पा सकते हें , राजयोग हर तरह हमें स्यस्थ्य रहनें में सहायक हे 

बसंत उत्सव पर “सुख शांति भवन” में खुशियों की बहार

नीलबड , भोपाल 10 फरवरी 2019 , ब्रह्माकुमारिज़ द्वारा नवनिर्मित अध्यात्मिक स्थान “सुख शांति भवन इस समय सुख शांति अनुभूति का केंद्र बना हुआ है तथा चारों तरफ सुख शांति का सन्देश दे रहा है, इसी उद्देश्य को लेकर बसंतोत्सव के मौके पर एक सुंदर कार्यक्रम का आयोजन किया गया अध्यात्मिक ज्ञान से जीवन में खुशियों की बहार जिसमे विशेष अतिथि के रूप में पधारे अनिल विक्रम जी          (डायरेक्टर एयरपोर्ट अथॉरिटी), अनूप स्वरुप जी (उपकुलपति, जागरण लेकसिटी यूनिवर्सिटी), साक्षी अग्रवाल जी     (एक्सक्यूटिव डायरेक्टर SIRT) के साथ-साथ लगभग 50 गणमान्य नागरिकों ने  कार्यक्रम में हिस्सा  लिया |

कार्यक्रम का संचालन डॉ.रचना बहन ने किया, बी.के.हेमा बहन ने कार्यक्रम का उद्देश्य बताया तथा कार्यक्रम के मुख्य वक्ता बी.के.रामकुमार भाई ने बताया कि कैसे अध्यात्मिक ज्ञान से जीवन से सच्ची खुशी प्राप्त की जा सकती है | सेवाकेंद्र की डायरेक्टर राजयोगिनी बी.के.नीता दीदी ने सभी को बसंतोत्सव की सभी को बधाई देते हुए चंद शब्दों में, एक नये अंदाज में सुख शांति भवन के साथ-साथ संस्था के उद्देश्य को स्पष्ट करते हुए कहा कि जब कोई पूछता है कि ब्रह्माकुमारियां क्या करती है तो उन्हें जबाब दिया जाता है कि ब्रह्मकुमारिया वो करती है जो आप चाहते हो और आज हर इन्सान शांति चाहता है |

कार्यकृम अंत में बी के साक्षी बहन ने कमेंट्री के द्वारा सबको शांति की अनुभूति कराकर कार्यक्रम का समापन किया |

 

Bhopal- Dadi Janki Inaugurates New Brahma Kumaris Centre ‘Sukh-Shanti Bhawan’ at Neelbad

ट्रस्टी होकर कर्म करेंगे तो टेंशन नहीं होगा: दादी जानकी
 
– पुलिस बैंड की धुन पर दादीजी ने शिव ध्वजारोहण कर सुख-शांति भवन लोकसेवा को किया समर्पित
– योग से कराई शांति की अनुभूति, भोपाल की स्वच्छता की सराहना की और सुंदर शहर बताया
– सांसद आलोक संजर बोले- ये भावों से भरा केंद्र
 
09 जनवरी, भोपाल।पुलिस बैंड की धुन और पुष्पवर्षा के बीच शिव ध्वजारोहण कर दादी जानकी ने बुधवार को ब्रह्माकुमारीज संस्थान के नीलबड़ स्थित सुख-शांति भवन को लोकसेवा, जनकल्याण और जनहित के लिए समर्पित कर दिया। इस दौरान माउंट आबू से पधारे गायकों की मधुर स्वर लहरियों ने गृह प्रवेश समारोह में चार चांद लगा दिए।
तीन दिवसीय आध्यात्मिक सत्संग महोत्सव में 103 वर्षीय दादी जानकी ने ओम शांति के महामंत्र के साथ संबोधन की शुरुआत की। दादी ने कहा कि यदि हम कारोबार करते हुए ट्रस्टी होकर रहेंगे और कर्म करेंगे तो टेंशन नहीं होगा। हर आत्मा में पांच गुण हैं- पवित्रता, सत्यता, नम्रता, मधुरता और शांति। इन गुणों को जानकर जीवन चरित्र में उतारना होगा। मन-वचन-कर्म की पवित्रता ब्रह्माकुमारीज का पहला धर्म है। कारोबार में सत्यता और व्यवहार में नम्रता-मधुरता हो। जीवन में शांति सबसे महत्वपूर्ण है। हम सभी आत्माएं पहले शांतिधाम फिर सुखधाम में जाती हैं। कर्म करते हुए हमारी अवस्था विदेही (आत्मा को देह से अलग होने की अनुभूति) और न्यारेपन की हो।
मेरे तीन बच्चे हैं- सुख-शांति और प्रेम: दादी
दादी जानकी ने लंदन का अनुभव सुनाते हुए कहा कि जब मैं पहली बार लंदन पहुंची तो वहां के लोगों ने पूछा कि आपके बच्चे नहीं हैं तो मैंने कहा कि मेरे दो बच्चे हैं- सुख और शांति। मेरा पति दिलवाला (परमपिता शिव परमात्मा) है। अब मेरा तीसरा बच्चा है प्रेम। जीवन का आधार सुख-शांति और प्रेम है। दिलाराम के साथ अच्छे से जीवन जीने का वरदान मिला है। इस भवन से भोपालवासियों की सुख-शांति की तलाश पूरी हो सकेगी। बाद में दादी ने सभी को योग से शांति की अनुभूति कराई।
ये भावों से भरा केंद्र है: सांसद
सांसद आलोक संजर ने कहा कि ये भावों से भरा केंद्र है। ये भवन प्रेम की ईंटें और श्रद्धा की रेत-सीमेंट से बना है और इसे सुख-शांति के पावन जल से सींचा गया है। चारों दिशाओं में सुख-शांति हो मेरी यही कामना। डीजी पुलिस मैथिलीशरण गुप्ता ने कहा कि आज चारों ओर नकारात्मकता का माहौैल है। धन की अंधी दौड़ चल रही है। ऐसे में ब्रह्माकुमारीज संस्थान समाज में सकारात्मक वातावरण का निर्माण कर रही है। ऐसे प्रयासों से ही धरती पर स्वर्ग आएगा।
सभी को कराई प्रतिज्ञा…
भोपाल जोन की जोनल निदेशिका बीके अवधेश ने सभी को प्रतिज्ञा कराई की दादी के बताए मार्ग पर सदा चलते रहेंगे। नीलबड़ सुख-शांति भवन की निदेशिका बीके नीता बहन ने कहा कि परमात्मा का ही कमाल है जो इतना विशाल भवन तैयार हो गया और जरा सी भी चिंता नहीं हुई। माउंट आबू से पधारे शांतिवन के प्रबंधक बीके भूपाल ने भी संबोधित किया। संचालन चंडीगढ़ से पधारीं बीके अनीता दीदी ने किया। माउंट आबू से पधारे सौ से अधिक बालब्रह्मचारी साधकों का साफा और चुनरी से सम्मान किया गया। छतरपुर से पधारीं छोटी बालिकाओं ने बहुत ही सुंदर मयूर नृत्य की प्रस्तुति दी।
स्वच्छ मिशन की ब्रांड एंबेसेडर ने भोपाल की स्वच्छता को सराहा….
महोत्सव के बाद शहर भ्रमण पर निकलीं स्वच्छ भारत मिशन की ब्रांड एंबेसेडर दादी जानकी ने भोपाल में साफ-सफाई देखकर यहां की स्वच्छता की जमकर सराहना की। दादी ने कहा कि भोपाल बहुत ही सुंदर शहर है। यहां के प्रशासन ने स्वच्छता पर विशेष काम किया है। इसके साथ ही दादी ने बड़े तालाब में वोटिंग भी की।

Live :Opening of Neelbad Bhopal Centre by Dadi Jankiji | 9-1-2019 | 11:00 AM

प्रेसनोट….
ट्रस्टी होकर कर्म करेंगे तो टेंशन नहीं होगा: दादी जानकी
– पुलिस बैंड की धुन पर दादीजी ने शिव ध्वजारोहण कर सुख-शांति भवन लोकसेवा को किया समर्पित
– योग से कराई शांति की अनुभूति, भोपाल की स्वच्छता की सराहना की और सुंदर शहर बताया
– सांसद आलोक संजर बोले- ये भावों से भरा केंद्र
09 जनवरी, भोपाल।
पुलिस बैंड की धुन और पुष्पवर्षा के बीच शिव ध्वजारोहण कर दादी जानकी ने बुधवार को ब्रह्माकुमारीज संस्थान के नीलबड़ स्थित सुख-शांति भवन को लोकसेवा, जनकल्याण और जनहित के लिए समर्पित कर दिया। इस दौरान माउंट आबू से पधारे गायकों की मधुर स्वर लहरियों ने गृह प्रवेश समारोह में चार चांद लगा दिए।
तीन दिवसीय आध्यात्मिक सत्संग महोत्सव में 103 वर्षीय दादी जानकी ने ओम शांति के महामंत्र के साथ संबोधन की शुरुआत की। दादी ने कहा कि यदि हम कारोबार करते हुए ट्रस्टी होकर रहेंगे और कर्म करेंगे तो टेंशन नहीं होगा। हर आत्मा में पांच गुण हैं- पवित्रता, सत्यता, नम्रता, मधुरता और शांति। इन गुणों को जानकर जीवन चरित्र में उतारना होगा। मन-वचन-कर्म की पवित्रता ब्रह्माकुमारीज का पहला धर्म है। कारोबार में सत्यता और व्यवहार में नम्रता-मधुरता हो। जीवन में शांति सबसे महत्वपूर्ण है। हम सभी आत्माएं पहले शांतिधाम फिर सुखधाम में जाती हैं। कर्म करते हुए हमारी अवस्था विदेही (आत्मा को देह से अलग होने की अनुभूति) और न्यारेपन की हो।
मेरे तीन बच्चे हैं- सुख-शांति और प्रेम: दादी
दादी जानकी ने लंदन का अनुभव सुनाते हुए कहा कि जब मैं पहली बार लंदन पहुंची तो वहां के लोगों ने पूछा कि आपके बच्चे नहीं हैं तो मैंने कहा कि मेरे दो बच्चे हैं- सुख और शांति। मेरा पति दिलवाला (परमपिता शिव परमात्मा) है। अब मेरा तीसरा बच्चा है प्रेम। जीवन का आधार सुख-शांति और प्रेम है। दिलाराम के साथ अच्छे से जीवन जीने का वरदान मिला है। इस भवन से भोपालवासियों की सुख-शांति की तलाश पूरी हो सकेगी। बाद में दादी ने सभी को योग से शांति की अनुभूति कराई।
ये भावों से भरा केंद्र है: सांसद
सांसद आलोक संजर ने कहा कि ये भावों से भरा केंद्र है। ये भवन प्रेम की ईंटें और श्रद्धा की रेत-सीमेंट से बना है और इसे सुख-शांति के पावन जल से सींचा गया है। चारों दिशाओं में सुख-शांति हो मेरी यही कामना। डीजी पुलिस मैथिलीशरण गुप्ता ने कहा कि आज चारों ओर नकारात्मकता का माहौैल है। धन की अंधी दौड़ चल रही है। ऐसे में ब्रह्माकुमारीज संस्थान समाज में सकारात्मक वातावरण का निर्माण कर रही है। ऐसे प्रयासों से ही धरती पर स्वर्ग आएगा।
सभी को कराई प्रतिज्ञा…
भोपाल जोन की जोनल निदेशिका बीके अवधेश ने सभी को प्रतिज्ञा कराई की दादी के बताए मार्ग पर सदा चलते रहेंगे। नीलबड़ सुख-शांति भवन की निदेशिका बीके नीता बहन ने कहा कि परमात्मा का ही कमाल है जो इतना विशाल भवन तैयार हो गया और जरा सी भी चिंता नहीं हुई। माउंट आबू से पधारे शांतिवन के प्रबंधक बीके भूपाल ने भी संबोधित किया। संचालन चंडीगढ़ से पधारीं बीके अनीता दीदी ने किया। माउंट आबू से पधारे सौ से अधिक बालब्रह्मचारी साधकों का साफा और चुनरी से सम्मान किया गया। छतरपुर से पधारीं छोटी बालिकाओं ने बहुत ही सुंदर मयूर नृत्य की प्रस्तुति दी।
स्वच्छ मिशन की ब्रांड एंबेसेडर ने भोपाल की स्वच्छता को सराहा….
महोत्सव के बाद शहर भ्रमण पर निकलीं स्वच्छ भारत मिशन की ब्रांड एंबेसेडर दादी जानकी ने भोपाल में साफ-सफाई देखकर यहां की स्वच्छता की जमकर सराहना की। दादी ने कहा कि भोपाल बहुत ही सुंदर शहर है। यहां के प्रशासन ने स्वच्छता पर विशेष काम किया है। इसके साथ ही दादी ने बड़े तालाब में वोटिंग भी की।

 

 

 

 

Power of Peace Event at Bhopal Idaghhills

Power of Peace for Hope, Healing and Happiness event was held at Bhopal Idaghhills which was well attended by the participants.

 

Power of Peace for Hope, Healing and Happiness event was held at Bhopal Idaghhills which was well attended by the participants.

IMG_20171119_104704