सुख शांति भवन में -मधुर मधुमेह शिविर

 

भोपाल नील बड 11 मार्च 19 ; निरंतर हो रहे कार्यक्रमों  की श्रंखला में नील बड स्थिति “सुख शांति ” भवन में मधुमेह के मरीजों के लिए 7-10 मार्च 19, तीन दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया जिसमे माउंट अबू से पधारे डॉ नायर ने भोजन पद्धति में बदलाव एवं राजयोग ध्यान के द्वारा शुगर पर नियंत्रण करने की विधि पर विस्तार से चर्चा की तथा शिविर के दौरान इस विधि से  सह्भागियौं की शुगर नियंत्रण कर के भी दिखाया तथा उन्होंने आश्वाशन भी दिया की अपनी जीवन शैली में राजयोग ध्यान को शामिल करने से एवं जरुरी भोजन के बदलाव से शुगर को असानी से नियंत्रित कर सकते हें तथा दवाइयों से छुटकारा पा सकते हें , राजयोग हर तरह हमें स्यस्थ्य रहनें में सहायक हे 

“सुख शांति भवन” भोपाल में शिवरात्रि महोत्सव मेला

नीलबड भोपाल,6 मार्च 2019:शिवरात्रि के  सुअवसर पर इस वर्ष नवनिर्मित सुख शांति भवन ,नील बड भोपाल में तीन दिवसीय 3/3/19 से 5/3/19 तक  शिवरात्रि महोत्सव मेले का आयोजन किया गया , जिसमे अमरनाथ की झांकी मुख्या आकर्षण का केंद्र रही ,भारी संख्या में पधारे शिव भक्तो ने अमरनाथ दर्शन कर अपनी भक्ति भावना  अर्पित की    इसके अलावा ,अध्यात्मिक चित्र प्रदर्शनी , समाधान चक्र ,अनुभूति कक्ष , ईश्वर को पत्र एवं अश्वमेघ ज्ञान यज्ञ मेले के आकर्षण का केंद्र रहे अध्यात्मिक चित्र प्रदर्शनी के माध्यम से लोगों को ईश्वरीय सन्देश प्राप्त हुआ ,तथा यज्ञ में  लोगो ने अपनी बुराईयो की आहुति देकर उन्हें छोड़ने का संकल्प लिया , मेले का प्रारंभ शिवरात्रि के  अवसर पर विशेष अतिथि के रूप में पधारे फादर मारिया स्टीफन, सहर काजी कारी सईद एवं केंद्र संचालिका आदरणीय राजयोगिनी नीता दीदी जी  के द्वारा शिव ध्वजा रोहण के साथ किया गया, शिव ध्वज के नीछे खड़े होकर सभी ने शुभ संकल्प लिए तथा पधारे अतिथियों ने शुभकामनायें व्यक्त करते हुए कहा की इश्वर एक हे और वो हमें आपस में प्रेम और सौहार्द से रहने का पाठ पढ़ता हे , इस अवसर पर नीलबड क्षेत्र में प्रभात फेरी निकलकर सभी को ईश्वरीय सन्देश भी दिया गया

 

योग तपस्या भट्टी “सुख शांति भवन ” भोपाल

नीलबड ,भोपाल २३-24 फ़रवरी ,२०१९ : माउंट अबू से पधारे बी के डॉ सचिन भाई जी ने नीलबड स्थिति “सुख शांति भवन” में २ दिवसीय योग तपस्या भट्टी कराकर भाई बहनों को योग की गहन अनुभूति कराइ साथ साथ ज्ञान की गहरे राज भी सहज रीती से बताये ,परमात्म मिलन के अपने जीवन के अनुभव सुनाकर लोगो के दिल में प्रभु प्रेम जाग्रत किया

भोपाल उत्सव मेले में – अध्यात्मिक प्रदर्शनी का समापन

भोपाल – 11 फरवरी 2019 – भोपाल उत्सव मेले में ब्रह्माकुमारीज़ की स्थानीय शाखा जवाहर चौक द्वारा आयोजित अध्यात्मिक ज्ञान प्रदर्शनी का आज लगभग एक माह पूरा हो चुका था, मेला भ्रमण में पधारे सैलानियों ने प्रदर्शनी में भी अपना समय दिया , वहाँ उपस्थित बीके भाई बहनों ने प्रदर्शनी में पधारे सभी जन समूह को ईश्वरीय सन्देश देते हुए जीवन में सुख शांति की प्राप्ति के लिए राजयोग ध्यान को अपने जीवन में अपनाने के लिये प्रेरित किया |

प्रदर्शनी का उद्घाटन दिनांक 20 जनवरी को केंद्र संचालिका राजयोगिनी बीके नीता दीदी जी एवं मनमोहन अग्रवाल (अध्यक्ष भोपाल मेला उत्सव समिति)के द्वारा किया गया |

प्रदर्शनी का आज अंतिम दिन था जिसका समापन मेला प्रागंण में “व्यसन मुक्त भारत  – स्वास्थ्य भारत एवं भ्रष्टाचार मुक्त भारत – स्वर्णिम भारत पर रैली निकालकर किया गया |

Live :Opening of Neelbad Bhopal Centre by Dadi Jankiji | 9-1-2019 | 11:00 AM

प्रेसनोट….
ट्रस्टी होकर कर्म करेंगे तो टेंशन नहीं होगा: दादी जानकी
– पुलिस बैंड की धुन पर दादीजी ने शिव ध्वजारोहण कर सुख-शांति भवन लोकसेवा को किया समर्पित
– योग से कराई शांति की अनुभूति, भोपाल की स्वच्छता की सराहना की और सुंदर शहर बताया
– सांसद आलोक संजर बोले- ये भावों से भरा केंद्र
09 जनवरी, भोपाल।
पुलिस बैंड की धुन और पुष्पवर्षा के बीच शिव ध्वजारोहण कर दादी जानकी ने बुधवार को ब्रह्माकुमारीज संस्थान के नीलबड़ स्थित सुख-शांति भवन को लोकसेवा, जनकल्याण और जनहित के लिए समर्पित कर दिया। इस दौरान माउंट आबू से पधारे गायकों की मधुर स्वर लहरियों ने गृह प्रवेश समारोह में चार चांद लगा दिए।
तीन दिवसीय आध्यात्मिक सत्संग महोत्सव में 103 वर्षीय दादी जानकी ने ओम शांति के महामंत्र के साथ संबोधन की शुरुआत की। दादी ने कहा कि यदि हम कारोबार करते हुए ट्रस्टी होकर रहेंगे और कर्म करेंगे तो टेंशन नहीं होगा। हर आत्मा में पांच गुण हैं- पवित्रता, सत्यता, नम्रता, मधुरता और शांति। इन गुणों को जानकर जीवन चरित्र में उतारना होगा। मन-वचन-कर्म की पवित्रता ब्रह्माकुमारीज का पहला धर्म है। कारोबार में सत्यता और व्यवहार में नम्रता-मधुरता हो। जीवन में शांति सबसे महत्वपूर्ण है। हम सभी आत्माएं पहले शांतिधाम फिर सुखधाम में जाती हैं। कर्म करते हुए हमारी अवस्था विदेही (आत्मा को देह से अलग होने की अनुभूति) और न्यारेपन की हो।
मेरे तीन बच्चे हैं- सुख-शांति और प्रेम: दादी
दादी जानकी ने लंदन का अनुभव सुनाते हुए कहा कि जब मैं पहली बार लंदन पहुंची तो वहां के लोगों ने पूछा कि आपके बच्चे नहीं हैं तो मैंने कहा कि मेरे दो बच्चे हैं- सुख और शांति। मेरा पति दिलवाला (परमपिता शिव परमात्मा) है। अब मेरा तीसरा बच्चा है प्रेम। जीवन का आधार सुख-शांति और प्रेम है। दिलाराम के साथ अच्छे से जीवन जीने का वरदान मिला है। इस भवन से भोपालवासियों की सुख-शांति की तलाश पूरी हो सकेगी। बाद में दादी ने सभी को योग से शांति की अनुभूति कराई।
ये भावों से भरा केंद्र है: सांसद
सांसद आलोक संजर ने कहा कि ये भावों से भरा केंद्र है। ये भवन प्रेम की ईंटें और श्रद्धा की रेत-सीमेंट से बना है और इसे सुख-शांति के पावन जल से सींचा गया है। चारों दिशाओं में सुख-शांति हो मेरी यही कामना। डीजी पुलिस मैथिलीशरण गुप्ता ने कहा कि आज चारों ओर नकारात्मकता का माहौैल है। धन की अंधी दौड़ चल रही है। ऐसे में ब्रह्माकुमारीज संस्थान समाज में सकारात्मक वातावरण का निर्माण कर रही है। ऐसे प्रयासों से ही धरती पर स्वर्ग आएगा।
सभी को कराई प्रतिज्ञा…
भोपाल जोन की जोनल निदेशिका बीके अवधेश ने सभी को प्रतिज्ञा कराई की दादी के बताए मार्ग पर सदा चलते रहेंगे। नीलबड़ सुख-शांति भवन की निदेशिका बीके नीता बहन ने कहा कि परमात्मा का ही कमाल है जो इतना विशाल भवन तैयार हो गया और जरा सी भी चिंता नहीं हुई। माउंट आबू से पधारे शांतिवन के प्रबंधक बीके भूपाल ने भी संबोधित किया। संचालन चंडीगढ़ से पधारीं बीके अनीता दीदी ने किया। माउंट आबू से पधारे सौ से अधिक बालब्रह्मचारी साधकों का साफा और चुनरी से सम्मान किया गया। छतरपुर से पधारीं छोटी बालिकाओं ने बहुत ही सुंदर मयूर नृत्य की प्रस्तुति दी।
स्वच्छ मिशन की ब्रांड एंबेसेडर ने भोपाल की स्वच्छता को सराहा….
महोत्सव के बाद शहर भ्रमण पर निकलीं स्वच्छ भारत मिशन की ब्रांड एंबेसेडर दादी जानकी ने भोपाल में साफ-सफाई देखकर यहां की स्वच्छता की जमकर सराहना की। दादी ने कहा कि भोपाल बहुत ही सुंदर शहर है। यहां के प्रशासन ने स्वच्छता पर विशेष काम किया है। इसके साथ ही दादी ने बड़े तालाब में वोटिंग भी की।

 

 

 

 

मध्य प्रदेश किसान सशक्तिकरण अभियान – ब्रह्माकुमारीज़ भोपाल

 

मध्य प्रदेश किसान सशक्तिकरण अभियान – भोपाल

नीलबड, भोपाल – 11 सितम्बर 2018

भारत एक कृषि प्रधान देश है, जिसकी 80% जनसंख्या अपने जीवन यापन हेतु कृषि पर निर्भर है | किसान भारतीय सामाजिक व्यवस्था के आधार स्तम्भ है | इसी बात को ध्यान में रखते हुए ब्रह्माकुमारीज़ द्वारा किसानो को सशक्त बनाने एवं कृषि उत्पादकता बड़ाने हेतु राष्ट्रिय स्तर पर किसान सशक्तिकरण अभियान चलाया जा रहा है | वर्तमान समय में जिस तरह से कृषि उत्पादन में अधिक से अधिक उपज लेने हेतु रसायनिक उर्वरक का प्रयोग तेजी से बढ रहा है और भोजन जहर बनता जा रहा है, जिससे कई बड़ी – बड़ी बीमारिया पैदा हो रही है , मुख्य रूप से केंसर तेज़ी से बढ रहा है, इस अशुद्ध भोजन का प्रभाव शरीर के साथ – साथ मन पर भी पड़ता है |

इस समस्या से निजात पाने हेतु ब्रह्माकुमारीज़ ने शाश्वत यौगिक खेती का विकल्प निकाला है, जिससे रसायनिक खादों रुपी जहर से बचाया जा सके , जिससे फसल की उत्पादकता के साथ – साथ गुणवत्ता भी बढे | इस नई कृषि उत्पादन पद्धति के प्रति किसान भाइयों को जागरूक करने एवं विस्तार में इस पद्धति को समझाने के लिए अभियान के तहत जगह – जगह किसान भाइयों के लिए कार्यक्रम किये जा रहे है ,

अभियान का एक काफिला आज नीलबड स्थित ब्रह्माकुमारीज़ के नव निर्मित भवन “दिव्य प्रकाश भवन” जहाँ बी.के.नीता दीदी जी के निर्देशन में आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित किसानो के काफिले के साथ साथ चल रही बी.के. शिवानी एवं बी. के. उषा ने शाश्वत यौगिक खेती के बारे में विस्तार से बताया |

वैज्ञानिक शोध में बताते है की हमारे विचारो का प्रभाव प्रकृति पर भी पड़ता है, इस बात को ध्यान में रखते हुए इस पद्धति को इजाद किया गया है , जिसके अंतर्गत योग द्वारा फसलो को शुद्ध व सकारात्मक विचार दिए जाते है, तथा जैविक खाद एवं जैविक कीटनाशक की सहायता से शुद्ध एवं सात्विक फसल प्राप्त की जाती है |

कार्यक्रम में किसान भाई बहुत प्रेरित हुए, साथ-साथ व्यशन मुक्त शैली ही हमे योग का प्रयोग करने में सक्षम बनाती है, इस बात पर प्रकाश डालते हुए व्यशन मुक्त होने की प्रेरणा भी दी |

कार्यक्रम की श्रृंखला में दूसरा कार्यक्रम “ गोदरमऊ ” गाँव में आयोजित किया गया , जहाँ  उपस्थित  200 किसान भाइयो में कार्यक्रम का लाभ लिया |

 

दिव्य प्रकाश भवन , नीलबड भोपाल

गोदरमऊ गॉंव, भोपाल 

 

राखी के पावन पर्व पर – अलौकिक रक्षाबंधन कार्यक्रम

 

 

 

भोपाल 26 अगस्त 2018 – रक्षा का पार्याय समझा जाने वाला राखी का पवन पर्व इस वर्ष भी हर्षोल्लास के साथ मनाया गया , ब्रह्माकुमारिज़ की स्थानीय शाखा ईदगाह हिल्स द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में भाई-बहने बड़े उमंग उत्साह के साथ सम्मिलित हुए तथा एक विशेष पहल के साथ ये कार्यक्रम संपन्न हुआ | जिसके अंतर्गत सभी सम्मिलित हुए भाई बहनों से किसी एक बुराई या व्यसन को त्यागने का संकल्प कराया |

वास्तव में हमारी आंतरिक बुराई एवं व्यसन ही हमारे लिए एवं समय के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं |सबसे बड़ी असुरक्षा है | इस बात का ध्यान रखते हुए सम्मिलित होने वाले भाई बहनो ने गंभीरता के साथ संकल्प लेकर स्वरक्षा एवं विश्व रक्षा में अपनी भागीदारी जताई | रक्षाबंधन के कार्यक्रम की श्रखला में सर्व प्रथम स्थानीय सेवाकेंद्र ईदगाह हिल्स भोपाल एवं उपसेवाकेंद्र जवाहर चौक , पंचवटी , श्यामला हिल्स पर राखी बंधन कार्यक्रम रखा गया | कार्यक्रम के अंतर्गत सेवाकेंद्र प्रभारी राजयोगिनी नीता दीदीजी ने नियमित रूप से राजयोग का अभ्यास कर रहे भाई बहनों एवं नये आगंतुको को रक्षा सूत्र बाधकर तिलक प्रसाद एवं वरदान देकर नये संकल्पों के साथ एक नई शुरुआत हेतु शुभाशीष दिया |

रक्षा बंधन कार्यक्रम की इस श्रंखला में भोपाल के कई संस्थानों में भी राखी बंधन कार्यक्रम रखा गया |जिसमे मुख्य रूप से पॉलिटेक्निक कॉलेज, केंद्रीय जेल, NHDC, CISF  एअरपोर्ट,२३ बटालियन आदि सम्मिलित हैं .

polytecnique college;

Central Jail ,Bhopal

CISF Airport

NHDC

GMC Bhopal

Anand Vihar School

23, Battallion